त्व्रित कुट्टिम परीक्षण सुविधा

Accelerated Pavement Testing Facility

कुट्टिम त्‍वरित परीक्षण  (एपीटी) आदि प्ररूप या यथार्थ  आस्‍तरित संरचनात्‍मक कुट्टिम प्रणाली हेतु उपयुक्‍त वैध भार सीमा पर या उससे अधिक आदि प्ररूप पहिया भारण के नियंत्रित अनुप्रयोग की सुविधा देता है ताकि संपीडित समय अवधि में क्षति के नियंत्रित, त्‍वरित संचयन के अंतर्गत  कुट्टिम प्रतिक्रिया और निष्‍पादन निर्धारित किया जा सके ।

त्‍वरित कुट्टिम परीक्षण सुविधा सृजन  के  उद्देश्‍य

  • केंद्रीकृत  राष्‍ट्रीय  त्‍वरित कुट्टिम परीक्षण  सुविधा की स्‍थापना ( सेंट्रलाइज नेशनल  एक्‍सीलिरेटिड पेवमेंट टेस्‍टिंग फेसिलिटी ,  एपीटीएफ)
  • दीर्घकालीन कुटि्टम निष्‍पादन अध्‍ययनों  (लौंग ट्रम पेवमेंट परफोरमेंस, एलटीपीपी) के समान आंकड़ा उत्‍पन्‍न करना तथा  सुनम्‍म्‍य और दृढ़ कुट्टिमों (प्ररूपी कुट्टिम संरचनाओं के लिए ) हेतु कुट्टिम अवह्रास मॉडल विकसित करना

त्‍वरित कुट्टिम परीक्षण सुविधा के लाभ

  • नए डिजाइनों, विनिर्देशों, मिश्रों और सामग्रियों का मूल्‍यांकन
  • कुट्टिम निष्‍पादन पर उन्‍नत सूचना
  • प्रत्‍याशीत यातायात दशाओं हेतु अध्‍ययन
  • अनुकारित क्षेत्र दशाएं
  • कुट्टिम डिजाइन प्रक्रियाओं और अनुरक्षण कार्यों में सुधारों के साथ पर्याप्‍त बचत
  • संपदा स्‍थापन और संरक्षण लागतों के परिमाण और समय पर निर्णय
  • सापेक्षरूप से लगुत्‍तर आकार होने के कारण परीक्षण खंडों के निर्माण की समरूपता और गुणवत्‍ता पर अधिक नियंत्रण
  • पर्यावरणीय कारकों यथा कुट्टिम तापमान और अध:स्‍तर नमी पर नियंत्रण
  • मितव्‍ययी और तकनीकी समाधानों के लिए तैयार, सड़क प्राधिकारियों  को निर्णय लेने में सहायता
  • उचित लक्षित कुट्टिम अनुसंधान कार्यक्रम

अंतर्राष्‍ट्रीय परिदृष्‍य

आस्‍ट्रेलिया, डेनमार्क, दक्षिण अफ्रीका, फ्रांस, ब्रिटेन तथा नीदरलैंड सहित अन्‍य अनेक देश इस सुविधा का व्‍यापक रूप से उपयोग कर रहें है ।  केवल संयुक्‍त राज्‍य अमरीका में एफएचडब्‍लूए, यूएसएसीई, (दोनों डब्‍लूईएस में तथा कोल्‍ड रीजन्‍स रिसर्च एंड इंजीनियरिंग लेबोरॉटरी (सीआरआरईएल) में तथा मिन्‍नेसोता, केलिर्फोनिया, टेक्‍सास, और लुसानिया के राज्‍यों में एपीटी कार्यक्रमों में अत्‍याधिक निवेश किए गए है । इसके अलावा फेडरल एवीऐशन ऐजेंसी (एफएए) ने हाल ही में विश्‍व में वृहद एपीटी मशीन  प्रारंभ कर रहा है । फ्लोरिडा राज्‍य और नेशनल सेंटर फॉर एसफाल्‍ट टेक्‍नोलोजी (एनसीएटी) ने एलबामा डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसपोर्टेशन के सहयोग से दोनों प्रकार के प्रमुख एफएस / एपीटी प्रयास  प्रारंभ किए है जो कि संभव है 21वीं शताब्‍दी का पहला नया एपीटी कार्यक्रम हो ।  विभिन्‍न सुविधाओं  पर किए गए परीक्षण जिसमें कुट्टिम निष्‍पादन पर मूलत: ध्‍यान दिया गया है ये अनिवार्य रूप से इस प्रकार डिजाइन और निर्माण किए गए है ताकि निधि दाता ऐजेंसी की तत्‍कालीन उच्‍च प्राथमिकता आवश्‍यकताओं को पूरा कर सकें  । ये कार्यक्रम विरूपता और क्षति प्राचल (यथा सुनम्‍य कुट्टिमों की दरार और रटिंग) मूल्‍यांकन करने में  अन्‍य विश्‍वव्‍यापी  कार्यक्रमों के साथ संगत है ।

एचबीएस (एपीटीएफ) कार्यक्रम से दक्षिणी अफ्रिका में महत्‍वपूर्ण  निष्‍कर्ष प्राप्‍त किए गए हैं । एचबीएस सं‍बंधी अनुसंधान से परिणामस्‍वरूप  दक्षिणी अफ्रिका कुट्टिम डिजाइन इंजीनियरी क्षेत्र में कुछ अत्‍याधिक महत्‍वपूर्ण विकास में वृह्द मिलावा मिश्र आधार (एलएएमबीएस), कणिकामय पायस मिश्र (जीइएमएस) सीमेंट आधारित कुट्टिम हेतु पुन: स्‍थापन उपाय कच्‍ची सड़कों का  चरणबद्ध सुधारीकरण हेतु उपचार, सरंध्र एसफाल्‍ट , दक्षिण अफ्रिका कुट्टिम संरचना डिजाइन पदत्ति, महामार्गों के लिए तकनीकी संस्‍तुतियां , श्रामिक वृद्धी सड़क भवन निर्माण तकनीके और इसी प्रकार अन्‍य शामिल है  ।

आयोजित अध्‍ययन

  • सड़क परिवहन एवं महामार्ग मंत्रालय को एक प्रमुख परियोजना प्रस्‍ताव प्रस्‍तुत किया गया जो उन्‍के विचाराधीन है । इस परियोजना का शीर्षक है ‘’ डेवलपमेंट ऑफ क्राइटएरिया  फॉर चौइस  ऑफ बिटुमिनस मिक्‍सीज वीद मोडिफाइड बांइडर्स यूजिंग
  • एचवीएस (एपीटीएफ) फॉर डूरेबल एंड  कॉस्‍ट इफैक्‍टिव सरफैसिंग्‍स’’ ।
  • दूसरा  परियोजना प्रस्‍ताव विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी विभाग को  उन्‍के प्रौद्योगिक प्रणाली विकास कार्यक्रम के अंतर्गत  प्रस्‍तुत किया गया है।  इस परियोजना का शीर्षक है ‘’ डेवलपमेंट ऑफ गाइडलाइंस फॉर यूज ऑफ एनवायरमेंट फ्रेडली एल्‍टरमेट मटेरियल्‍स फॉर रोड कंसट्रक्‍शन यूजिंग एक्‍सीलिरेटिड पेवमेंट टेसटिंग फेसीलिटी’’ ।
  • एपीटीएफ के सीआरआरआई परिसर में आने के पश्‍चात भी  एक आं‍तरिक परियोजना शीर्षक ‘’डेवलपमेंट ऑफ मेथोड़ोलॉजी फॉर कमीशनिंग एडं साइट एक्‍सपटेंश टेस्‍ट (एसएटी) ऑफ हेवी वेहिकल सीमूलेटर (एववीएस) टाइप ऑफ एपीटीएफ को सफलतापूर्वक पूरा किया गया है।
  • एक अन्‍य आंतरिक परियोजना शीर्षक  ‘’ स्‍टडि ऑन वेलिडेशन ऑफ आइआरसी पेवमेंट डिजाइन मैथड यूजिंग हेवी वेहिकल सीमूलेटर (एचवीएस-एपीटीएफ)’’ से सक्षम प्राधिकारी द्वारा हाल ही अनुमोदित की गई है । यह परियोजना  1 अप्रैल 2011 से शुरू हो रही है ।