सुनम्‍य कुट्टिम

अनुसंधान व विकास/परामर्श के क्षेत्र/प्रमुख गतिविधियां

अनुसंधान व विकास के क्षेत्र

  • सड़कों और हवाई क्षेत्रों के लिए सुनम्‍य एवं मिश्र कुट्टिमों का अभिकल्‍पन
  • मृदा  हित हेतु योजक (अकार्बनिक योजक, कार्बनिक योजक  नैनो सामग्री, बायोएन्‍जाइम, जियोपॉलीमर, बायोपॉलीमर)
  • खनिज मिलावे का अभिलक्षण और हितकारीकरण
  • औद्योगिक अपशिष्‍ट और कृत्रिम मिलावा : बिटुमिनस मिश्रों में उपयोग
  • कार्बनिक बंधक (डामर, रबर एवं पॉलीमर आशोधित बंधक ,कटबैक डामर(बिटुमिन) एवं पायस)
  • डामरीय बंधकों हेतु योजक (प्रतिनिर्लेप कर्मक, प्रति ऑक्‍सीकारक, पालीमर एवं गर्म मिश्र योजक
  • निर्माण एवं अनुरक्षण प्रौद्योगिकियां (पुन:चक्रण, सूक्ष्‍म सतहीकरण, पंक संवरण, पैबंद मिश्रों के प्रयोग हेतु तैयार
  • निर्माण और अनुरक्षण के लिए शीत मिश्रण एवं गर्म मिश्रण प्रौद्योगिकियां

परामर्श/प्रमुख गतिविधियां

  • सड़कों हवाई क्षेत्रों और पार्किंग क्षेत्रों के लिए सुनम्‍य व सम्मिश्र कुट्टिमों और उपरिशायी का डिजाइन
  • सुनम्‍य तथा सम्मिश्र कुट्टिम की विफलता हेतु अन्‍वेषण और उपचारी उपाय
  • सुनम्‍य तथा सम्मिश्र कुट्टिम के निर्माण और अनुरक्षण हेतु कुट्टिम सामग्रियों का मूल्‍यांकन
  • अपशिष्‍ट तथा सीमांत सामग्रियों के उपयोग का संभाव्‍यता अध्‍ययन
  • सुनम्‍य  कुट्टिम के निर्माण और गुणवत्‍ता नियंत्रण का पर्यवेक्षण
  • डामर, पीएमबी एवं पायस हेतु प्रयोगशालाओं तथा औद्योगिक इकाइयों की स्‍थापना
  • अभियांत्रिकी सामग्रियों, डिजाइन, निर्माण और अनुरक्षण के क्षेत्र में तदनुकूल निर्मित प्रशिक्षण कार्यक्रम
  • नवीन प्रौद्योगिकियों पर कार्यशालाएं
  • नवीन मानकों एवं विनिर्देशों की तैयारी
  • त्‍वरण कुटि्टम परीक्षण सुविधाओं के द्वारा डिजाइन एवं विनिर्देशों का मूल्‍यांकन,
  • नवीन प्रौद्योगिकियों एवं सामग्रियों का प्रमुख अध्‍ययन
  • हवाई क्षेत्र कुट्टिमों का डिजाइन
  • ग्रामीण सड़कों का डिजाइन निर्माण और अनुरक्षण

प्रभाग के उपस्‍कर, सुविधाएं/सॉफ्टवेयर

  • त्‍वरण कुट्टिम परीक्षण सुविधा : यह राष्‍ट्रीय सुविधा है  । इसका उपयोग सामग्री, डिजाइन एवं विनिर्देशों के मूल्‍यांकन के लिए किया जाता है ।
  • चक्र पथन प्रणाली :यह उपस्‍कर विभिन्‍न तापमानों पर डामरीय परतों के चक्रांक के मूल्‍यांकन हेतु प्रयुक्‍त होता है
  • विसर्पण परीक्षण प्रणाली : इस उपस्‍कर का प्रयोग विसर्पण व्‍यवहार तथा डामरीय मिश्रण के दृढ़ता मॉडुलस के निर्धारण हेतु किया जाता है ।
  • लट्ठा श्रांति परीक्षण प्रणाली : डामरीय मिश्रण के श्रांति व्‍यवहार के अध्‍ययन हेतु इस उपस्‍कर का प्रयोग किया जाता है ।
  • ब्रुक-फील्‍ड श्‍यानतामापी (विस्‍कोमीटर) : इस उपस्‍कर का प्रयोग आशोधित डामर सहित डामरीय बंधकों की श्‍यानता के मापन हेतु किया जाता है ।
  • केशिकीय श्‍यानतामापी (विस्‍केामीटर) : इस उपस्‍कर का प्रयोग डामरीय बंधकों की निरपेक्ष श्‍यानता के मापन हेतु किया जाता है ।
  • आशोधित डामर एवं पायस के निर्माण हेतु प्रमुख संयंत्र : इस उपस्‍कर का प्रयोग पारंपरिक डामर पायसों की विभिन्‍न श्रेणियों, आशोधित डामर एवं आशोधित पायसों के उत्‍पादन हेतु किया जाता है ।
  • सूक्ष्‍म सतहीकरण के डिजाइन हेतु उपस्‍कर : सूक्ष्‍म सतहीकरण के डिजाइन हेतु प्रयोग किए गए विभिन्‍न उपकरणों का दृश्‍य
  • परिभ्रामी संहनित्र (जाइरेटरी कॉम्‍पैक्‍टर): इस उपस्‍कर का प्रयोग विभिन्‍न परीक्षण प्रयोजनों हेतु मार्शल नमूने तैयार करने के लिए किया जाता है ।
  • डामर परीक्षण उपस्‍कर : बेधन परीक्षण मृदुता बिंदु और स्‍थायी परीक्षण के दृश्‍य
  • स्‍वचालित मार्शल परीक्षण मशीन
  • बंकन बीम रियोमीटर
  • गतिशील अपरूपण रियोमीटर
  • प्रत्‍यक्ष तनाव परीक्षक
  • दाब काल प्रभावन पात्र
  • डामर के दीर्घकालीन काल प्रभावन के लिए दाब काल प्रभावन पात्र
  • जीटा संभाव्‍यता के लिए उपकरण
  • परसन्‍स कंक्रीट के लिए बंधक जलनिकास परीक्षण और पारगम्‍यता परीक्षण

प्रभाग द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियां और प्रणालियां

  • पॉलीबिट ए तथा पॉलीबिट बी प्रौद्योगिकी
  • इलास्‍टोमैरिक डामर प्रौद्योगिकी
  • उन्‍नत अवचूर्ण रबर आशोधित डामर
  • रैडी टू यूज पैचिंग मिक्‍सेज
  • शीत मिश्र प्रौद्योगिकी
  • पाटन सेतु निघर्षण आस्‍तरों पर दरारों की मरम्‍मत— रिपेयर ऑफ क्रैक्‍स ऑन ब्रिज बैक वियरिंग कोट्स