Sorry, you need to enable JavaScript to visit this website.

पेटेंट एवं प्रौद्योगिकी

भारत में दायर पेटेंट

1.पुराने डामरीय मिश्रणों के पुनर्चक्रण के लिए रिजुविनेटर (आवेदन सं. 202111017168)

2.चलायमान रेल/सड़क यातायात को प्रभावित किए बिना बॉक्स जैकिंग प्रचालन के दौरान त्वरित सुधार की विधि (आवेदन सं. 202011034410)

3.वर्तमान यातायात को प्रभावित किए बिना बॉक्स जैकिंग और मृदा कीलबंदी द्वारा उथले बहुदिशात्मक अंडरपास प्रतिच्छेद के निर्माण की प्रक्रिया (आवेदन सं. 0128/एनएफ/2019)

4.डामर पायस आधारित पॉटहोल मरम्मत प्रणाली की अभियांत्रिकी (आवेदन सं. 201911017676)

5.विभिन्न आवृत्तियों पर आधारित शोर बैरियर का डिजाइन (आवेदन सं. 201811047606)

6.ड्राइवर नैदानिकी एवं प्रशिक्षण विधि सहित कार चालन सिमुलेटर (आवेदन सं.201611040851)

7.शीत मिश्र प्रौद्योगिकी के प्रयोग से सड़क बिछाने की प्रक्रिया (आवेदन सं. 201611039241)

8.सड़कों एवं एयरफील्ड कुट्टिमों के लिए एस्फाल्ट सतहीकरण के निर्माण हेतु कठोर श्रेणी डामर और प्रक्रिया (आवेदन सं. 2837/डीईएल/2015)

9.इलेक्ट्रोमकैनिकल स्थल घनत्व प्रमापी (आवेदन सं.1632/डीईएल/2014)

10.कुट्टिम अनुप्रयोगों के लिए उपयोगी अपशिष्ट पीवीसी संशोधित डामर के निर्माण के लिए एक आर्द्र प्रक्रिया (आवेदन सं. 1368/डीईएल/2014)

11.सड़क निर्माण के लिए गर्म डामरीय मिश्रणों में थर्मोकोल अपशिष्ट के उपयोग की प्रक्रिया (आवेदन सं. 1258/डीईएल/2014)

12.पॉटहोल मरम्मत मशीन का विकास और डिजाइन (आवेदन सं. 821/डीईएल/2014)

13.वाहन पर रखे स्वचालित नियंत्रित चल सेतु निरीक्षण यंत्र (आवेदन सं. 2984/डीईएल/2012)

14.रेलवे/रोड अंडरपास के निर्माण के लिए प्रयोग में आने वाली मृदा कीलबंदी तकनीक द्वारा उच्च निपाती मृदा संहति का क्रमिक पुनरावर्ती अस्थायीकरण व स्थायीकरण (आवेदन सं. 136/डीईएल/2012)

स्वीकृत पेटेंट

1. 21 दिसंबर, 2021 को उच्च प्रदर्शन उच्च संशोधित हाइब्रिड डामर और इसकी प्रक्रिया - भारत (पेटेंट सं. 384708) दिया गया।

2. 21 अक्टूबर, 2021 को इलेक्ट्रो- मैकेनिकल स्थल घनत्व प्रमाप का विकास - भारत (पेटेंट सं. 379577) दिया गया।

3. 4 जनवरी, 2021 को कुट्टिम अनुप्रयोगों के लिए उपयोगी अपशिष्ट पीवीसी संशोधित डामर को बनाने के लिए एक आर्द्र प्रक्रिया - भारत (पेटेंट सं. 355215) दिया गया।

4. 11 जनवरी, 2021 को रेलवे/रोड अंडरपास के निर्माण के लिए प्रयोग में आने वाली मृदा कीलबंदी तकनीक के द्वारा उच्च निपाती मृदा संहति के क्रमिक पुनरावर्ती अस्थायीकरण व स्थायीकरण - भारतीय (पेटेंट सं. 355607) पेटेंट दिया गया।

5. 6 जुलाई, 2020 को सड़क निर्माण के लिए गर्म डामरीय मिश्रण में थर्मोकोल अपशिष्ट का उपयोग की प्रक्रिया - भारत (पेटेंट सं. 340506) दिया गया।

6. 18 जून,2020 को वाहन पर रखे इलेक्ट्रो-मैकेनिकल तौर पर संचालित  चल सेतु निरीक्षण यंत्र - भारत (पेटेंट सं. 338725) दिया गया।

7. रेलवे/रोड के निर्माण के लिए प्रयोग में आने वाली मृदा कीलबंदी तकनीक द्वारा उच्च निपाती मृदा संहति के क्रमिक पुनरावर्ती अस्थायीकरण व स्थायीकरण (पेटेंट सं. जीबी2519270) - यूके पेटेंट।

8. रेलवे/रोड के निर्माण के लिए प्रयोग में आने वाली मृदा कीलबंदी तकनीक द्वारा उच्च निपाती मृदा संहति के क्रमिक पुनरावर्ती अस्थायीकरण व स्थायीकरण (पेटेंट सं. 93959725) - यूएस पेटेंट।

9. रेलवे/रोड के निर्माण के लिए प्रयोग में आने वाली मृदा कीलबंदी तकनीक द्वारा उच्च निपाती मृदा संहति के क्रमिक पुनरावर्ती अस्थायीकरण व स्थायीकरण (पेटेंट सं. 11201500373टी) - सिंगापुर पेटेंट।

10. रेलवे/रोड के निर्माण के लिए प्रयोग में आने वाली मृदा कीलबंदी तकनीक द्वारा उच्च निपाती मृदा संहति के क्रमिक पुनरावर्ती अस्थायीकरण व स्थायीकरण (पेटेंट सं. 18089) - श्रीलंका पेटेंट।

11. रेलवे/रोड के निर्माण के लिए प्रयोग में आने वाली मृदा कीलबंदी तकनीक द्वारा उच्च निपाती मृदा संहति के क्रमिक पुनरावर्ती अस्थायीकरण व स्थायीकरण (पेटेंट सं.डब्लूओ 2014/013508 ए2) - पीसीटी पेटेंट।

12. फरवरी, 2011 को डामर के संशोधन के लिए अपशिष्ट सुघट्य थैलों के उपयोग - भारत (पेटेंट सं. 246060) दिया गया।

दाखिल किए गए ट्रेडमार्क

1. 20 सितंबर,2021 को वर्ग 19 के अंतर्गत "एमएस मैक्रोसरफेसिंग" (यंत्र) शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 5139669)

2. 18 फरवरी,2021 को वर्ग 19 के अंतर्गत "टेरासरफेसिंग"(वर्डमार्क) शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 4869808)

3. 12 अक्टूबर, 2020 को वर्ग 19 के अंतर्गत "एमएसएस+ - मॉडिफाइड मिक्स सील सरफेसिंग" शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं.4697487)

4. 20 अगस्त, 2020 को वर्ग 19 के अंतर्गत "टेरासरफेसिंग" (यंत्र) शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 4616832)

5. 10 सितंबर, 2020 को वर्ग 37,39,40,41 और 42 के अंतर्गत "सीएसआइआर-सीआरआरआई" शीर्षक लोगो का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 4652632)

6. 21 नवंबर, 2019 को वर्ग 19 के अंतर्गत "रेजुपेव" शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 4348255)

7. 14 अगस्त, 2019 को वर्ग 9 के अंतर्गत "किसान सभा" शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 4265168)

8. 23 जून, 2017 को वर्ग 42 के अंतर्गत "फाइब्रोस्ट्रेन" शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 3577030)

9. 15 जून, 2017 को वर्ग 42 के अंतर्गत "सेतुकेयर" शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 3571372)

10. 13 जून,2017 को वर्ग 9 के अंतर्गत "सेतुकेयर" शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 3571371)

11. 13 जून,2017 को वर्ग 9 के अंतर्गत "फाइब्रोस्ट्रेन" शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 3569340)

12. 13 जून, 2017 को वर्ग 9 के अंतर्गत "फाइब्रोस्ट्रेन" शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं 3569339)

13. 13 जून, 2017 को वर्ग 42 के अंतर्गत "फाइब्रोस्ट्रेन"  शीर्षक का ट्रेडमार्क दाखिल किया गया (आवेदन सं. 3569337)

दायर/स्वीकृत पेटेंट

1. वर्ग 19 के अंतर्गत "एमएसएस+ मोडिफाइड मिक्स सील सरफेसिंग" शीर्षक के लिए 12 अक्टूबर 2030 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-4697487)

2. वर्ग 19 के अंतर्गत "टेरासरफेसिंग" शीर्षक के लिए 20 अक्टूबर 2030 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-4616832)

3. वर्ग 37,39,40,41 और 42 के अंतर्गत "सीएसआईआर सीआरआरआई" लोगो शीर्षक के लिए 10 सितंबर 2030 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-4652632)

4. वर्ग 19 के अंतर्गत "रेजुपेव" शीर्षक के लिए 15 नवंबर 2029 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-4348255)

5. वर्ग 42 के अंतर्गत "फाइब्रोस्ट्रेन" शीर्षक के लिए 23 जून 2027 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-3577030)

6. वर्ग 42 के अंतर्गत "सेतुकेयर" शीर्षक के लिए 15 जून 2027 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-3571372)

7. वर्ग 9 के अंतर्गत "सेतुकेयर" शीर्षक के लिए 15 जून 2027 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-3571371)

8. वर्ग 9 के अंतर्गत "फाइब्रोस्ट्रेन" शीर्षक के लिए 13 जून 2027 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-3569340)

9. वर्ग 9 के अंतर्गत "फाइब्रोस्ट्रेन" शीर्षक के लिए 13 जून 2027 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-3569339)

10. वर्ग 42 के अंतर्गत "फिबोस्ट्रेन" शीर्षक के लिए 13 जून 2027 तक वैध ट्रेडमार्क पंजीकृत किया गया (आवेदन संख्या-3569337)

प्रौद्योगिकी लाइसेंस

1. पैचफिल- पॉटहोल मरम्मत मशीन (मेसर्स पेट्रोचेम स्पेशियलिटीज, उत्तर प्रदेश को 13 जुलाई 2021 को 12 जुलाई 2026 तक वैध गैर-विशिष्ट लाइसेंस दिया गया।)

2. मैक्रोसरफेसिंग तकनीक: सीमेंट कंक्रीट कुट्टिम के लिए सूक्ष्म सतहीकरण (जेएमवीडी इंडस्ट्रीज प्रा. लि. लखनऊ को 22 फरवरी 2021 को 21 फरवरी 2027 तक वैध विशिष्ट लाइसेंस दिया गया।)

3. औद्योगिक अपशिष्ट पदार्थों जैसे स्टील स्लैग, फ्लाई ऐश और मार्बल डस्ट के साथ माइक्रोसरफेसिंग तकनीक का विकास (वर्मा इंडस्ट्रीज, नई दिल्ली को 16 जून 2020 को 15 जून 2026 तक वैध विशिष्ट लाइसेंस दिया गया।)

4. वेब अनुप्रयोग आरोग्य पथ का विकास: राष्ट्रीय स्वास्थ्य आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन प्रणाली (मेसर्स ट्रकसुविधा-सर्वोधय इंफोटेक प्रा. लि. हरियाणा के साथ 13 मई 2020 को 12 मई 2025 तक वैध विशेष लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

5. संशोधित मिश्रित बंध सतहीकरण (एमएसएस+)(जेएमवीडी इंडस्ट्रीज प्रा. लि. लखनऊ को 24 अगस्त 2020 को 23 अगस्त 2025 तक वैध विशिष्ट लाइसेंस दिया गया।)

6. डामरीय/एस्फाल्ट कुट्टिम के संयंत्र में गर्म और सीटू पुनर्चक्रण में गर्म डामर कुट्टिम सामग्री के पुनर्चक्रण के लिए रिजुविनेटर (वर्मा इंडस्ट्रीज, नई दिल्ली के साथ 4 नवंबर 2019 को 3 नवंबर 2024 तक वैध विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

7. विभिन्न आवृत्तियों के आधार पर शोर अवरोध का डिजाइन (क) निम्न आवृत्ति शोर अवरोध विन्यास (ख) मध्यम आवृत्ति शोर अवरोध विन्यास (ग) उच्च आवृत्ति शोर अवरोध विन्यास (मेसर्स टेक्नोक्राफ्ट कोहलहोर इंफ्रास्ट्रक्चर प्रा. लि. मुंबई के साथ 16 जुलाई 2019 को 15 जुलाई 2024 तक वैध गैर-विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

8. आपूर्ति श्रृंखला और माल ढुलाई के लिए मोबाइल अनुप्रयोग का विकास (मेसर्स ट्रकसुविधा-सर्वोधय इंफोटेक प्रा. लि. हरियाणा के साथ 26 जून 2019 को 25 जून 2029 तक वैध विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

9. चालक नैदानिकी और प्रशिक्षण विधियों और "विस्तारित उत्पादों" के साथ कार ड्राइविंग सिमुलेट (मेसर्स फेरोस सिमुलेशन सिस्टम प्रा. लि. के साथ 13 फरवरी 2019 को 12 फरवरी 2022 तक वैध गैर-विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

10. सड़कों और हवाई क्षेत्र के लिए एस्फाल्ट सतहीकरण के निर्माण के लिए कठोर श्रेणी डामर (वीजी 40 और वीजी 50) के निर्माण के लिए नई प्रक्रिया (मेसर्स बिटकोल बिटुमिन कॉरपोरेशन (इंडिया) प्रा. लि., नोएडा के साथ 27 फरवरी 2018 को 26 फरवरी 2023 तक वैध विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

11. सड़कों के निर्माण और रखरखाव के लिए शीत-मिश्र तकनीक (मेसर्स बिटचेम एस्फाल्ट टेक्नोलॉजी लिमिटेड, गुवाहाटी के साथ 12 दिसंबर 2017 को 23 सितंबर 2028 तक वैध विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

12. सड़कों और एयर फील्‍ड के लिए एस्फाल्ट सतहीकरण के निर्माण के लिए कठोर श्रेणी डामर (वीजी 40 और वीजी 50) के निर्माण के लिए नई प्रक्रिया (मेसर्स जलनिधि बिटुमिन स्पेशियलिटी प्रा. लि. के साथ 08 मार्च 2017 को 07 मार्च 2022 तक वैध गैर-विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

13. सड़कों और एयर फील्‍ड के लिए एस्फाल्ट सतहीकरण के निर्माण के लिए कठोर श्रेणी डामर (वीजी 40 और वीजी 50) के निर्माण के लिए नई प्रक्रिया (मेसर्स एआर थर्मोसेट्स प्रा. लि. के साथ 16 नवंबर 2016 को 15 नवंबर 2021 तक वैध गैर-विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

14. सड़कों और एयर फील्‍ड के लिए एस्फाल्ट सतहीकरण के निर्माण के लिए कठोर श्रेणी डामर (वीजी 40 और वीजी 50) के निर्माण के लिए नई प्रक्रिया (मेसर्स जूनो बिटुमिक्स प्रा. लि. के साथ 16 नवंबर 2016 को 15 नवंबर 2021 तक वैध गैर-विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

15. सड़कों और एयर फील्‍ड के लिए एस्फाल्ट सतहीकरण के निर्माण के लिए कठोर श्रेणी डामर (वीजी 40 और वीजी 50) के निर्माण के लिए नई प्रक्रिया (टिकीटार इंडस्ट्रीज प्रा. लि. वडोदरा के साथ 16 नवंबर 2016 को 15 नवंबर 2021 तक वैध गैर-विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

16. वाहन पर रखे स्वतः नियंत्रित मोबाइल सेतु निरीक्षण यंत्र (मेसर्स जेमिनी पावर हाइड्रोलिक्स प्रा. लि., मुंबई के साथ 10 अप्रैल 2015 को गैर-विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

17. वाहन पर रखे स्वतः नियंत्रित मोबाइल सेतु निरीक्षण यंत्र (मेसर्स गुजरात अपोलो इंडस्ट्रीज लि. गुजरात के साथ 05 दिसंबर 2014 को गैर-विशिष्ट लाइसेंस पर हस्ताक्षर किए गए।)

हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापन

1. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट(एसएमपी), कोलकाता के बीच 05 जुलाई 2021 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

2. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान, आईएनएआई-एप्लाइड रिसर्च सेंटर फॉर एआई हैदराबाद, इंटेल टेक्नोलॉजी इंडिया प्रा. लि. , इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, हैदराबाद और महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के बीच 11 जून 2021 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

3. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और बिहार राज्य सड़क विकास निगम लिमिटेड (बीएसआरडीसी) के बीच 24 मई 2021 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

4. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के बीच 01 जनवरी 2021 को 31 दिसंबर 2023 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

5. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के बीच 01 जनवरी 2021 को 31 दिसंबर 2024 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

6. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के बीच 01 जनवरी 2021 को 31 दिसंबर 2025 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

7. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और एल एन पेट्रोचेम प्रा. लि. के बीच 03 मार्च 2020 को 02 मार्च 2023 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

8. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के बीच 06 फरवरी 2020 को 05 फरवरी 2023 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

9. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान, इंडियन रोड कांग्रेस और सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार के बीच 13 जनवरी 2020 को 12 जनवरी 2023 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

10. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और असम ग्रामीण संपर्क प्रशिक्षण और अनुसंधान केंद्र (असम आरसीटीआरसी) के बीच 10 जनवरी 2020 को 09 जनवरी 2023 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

11. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और मध्य प्रदेश ग्रामीण संपर्क प्रशिक्षण और अनुसंधान केंद्र (एमपीआरसीटीआरसी) के बीच 10 जनवरी 2020 को 09 जनवरी 2023 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

12. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और छत्तीसगढ़ ग्रामीण संपर्क प्रशिक्षण और अनुसंधान केंद्र (सीजीआरसीटीआरसी) के बीच 10 जनवरी 2020 को 09 जनवरी 2023 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

13. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और माधव इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस (एमआईटीएस), ग्वालियर के बीच 27 नवंबर 2019 को 26 नवंबर 2022 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

14. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), इंदौर के बीच 14 अगस्त 2019 को 13 अगस्त 2024 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

15. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और राष्ट्रीय राजमार्ग और अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड (एनएचआईडीसीएल), नई दिल्ली के बीच 12 नवंबर 2018 को 11 नवंबर 2021 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

16. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी),तिरुपति के बीच 11 मई 2018 को 10 मई 2021 तक वैध समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

17. सीएसआईआर-केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी), कालीकट के बीच 18 नवंबर 2014 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।